दोस्ती


ANKUSH
ANKUSH

दौर था वो बचपन का,
सबकी बातों में लड़कपन था,

AAKASH
AAKASH

दिखावे से दुनिया चलती है,
ये सोचकर सब बातें बनती थी,

wp-1588529921365.jpg
FROM RIGHT-RAMAN,AJAY

मिले कुछ दुश्मन ऐसे,
जो दिल में बस गए,

VISHAL

लड़ते लड़ते पता नहीं लगा,
कब सब ज़िन्दगी बन गए,

wp-1588529921338.jpg
MAHESH

दोस्ती शब्दों की मोहताज नहीं है,
आसानी से लिख दूं, ये वो अल्फ़ाज़ नहीं है,

wp-1588529921326.jpg
VIJAY

लिखने में इसे,ढूंढते है शब्दों की पनाह,
खत्म हो जाए किस्सों में, जनाब ये वो आगाज़ नहीं है,

wp-1588529921259.jpg
AMRISH

मेरी खुशियां इतनी सस्ती हैं,
मेरी जान मेरे भाइयों में बसती है,

IMG-20200429-WA0020.jpg
AASHU

सब साथ रहे हमेशा,
इन सब से ही मेरी हस्ती है,

IMG-20200429-WA0024.jpg
SHUBHAM

अरे मैं तो किताब लिखदूं, अगर कोई पढ़े तो
मेरे दोस्त ही इतने हैं,कोई हिसाब करे तो,

wp-1588529959397.jpg
FROM RIGHT-ASLAM,DANISH,VISHAL

दिमाग कम दिल से ज्यादा सोचते हैं
मैं तो सबकुछ वार दूं इनपे, अगर कोई हां करे तो

किताब लिख सकता हूं,

12 thoughts on “दोस्ती

Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Create a website or blog at WordPress.com

Up ↑

%d bloggers like this: